Website is in Underconstruction | Online Booking and Online Payment is in Testing Mode for Some Time

वेबसाइट निर्माण कार्य प्रगति पर है ... ऑनलाइन बुकिंग एवं ऑनलाइन भुगतान का अभी परिक्षण चल रहा है ...

माधव सेवा न्यास

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के द्वितीय सर संघ चालक परम पूज्यनीय माधव सदाशिवराव गोलवलकरजी के नाम पर इस न्यास को नाम दिया गया 'माधव सेवा न्यास'
आगे पढ़ें...

श्री महाकालेश्वर भक्त निवास में अपने लिए कमरा चुने

डबल बेड रूम
900a night

सर्वसुविधायुक्त डबल बेड रूमडबल बेड रूम

  • फ्री वाई-फाई
  • मंदिर के नजदीक
  • डीलक्स कमरें
  • सर्वसुविधायुक्त
  • फास्ट रूम सर्विस
  • उज्जैन दर्शन
बुकिंग आवेदन करें
डबल बेड रूम एसी
1100a night

डबल बेडसर्वसुविधायुक्त डबल बेड वातानुकूलित रूम

  • सर्वसुविधायुक्त
  • डबल बेड रूम
  • वातानुकूलित
  • फ्री वाई फाई
  • रूम सर्विस
  • उज्जैन दर्शन
बुकिंग आवेदन करें
थ्री बेड ए. सी. रूम
1500a night

सर्वसुविधायुक्त थ्री बेड ए सी रूम थ्री बेड ए सी रूम

  • वातानुकूलित
  • फ्री वाई फाई
  • रूम सर्विस
  • सर्वसुविधायुक्त
  • मंदिर के नजदीक
  • उज्जैन दर्शन
बुकिंग आवेदन करें

श्री महाकालेश्वर भक्त निवास, उज्जैन

दर्शन

विश्व प्रसिद्द श्री महाकालेश्वर मंदिर के नजदीक एवं लाइव दर्शन की व्यवस्था

अधिक देखें

ऑनलाइन भुगतान स्वीकार्य

सभी बेंकों के क्रेडिट डेबिट कार्ड एवं ऑनलाइन बैंकिंग भुगतान स्वीकार्य

अधिक पढ़ें

24x7 रेस्टोरंट

सभी प्रकार के व्यंजनों से भरपूर भोजनालय हर समय उपलब्ध हैं

आगे पढ़ें

सर्व-सुविधायुक्त

वातानुकूलित, स्वच्छ-सुव्यवस्थित कमरें, पारिवारिक माहौल एवं सर्वसुविधायुक्त

आगे देखें

मुख्य सेवा प्रकल्प

भारत के प्रमुख तीर्थस्थल श्री महाकालेश्वर उज्जैन में एक प्रकल्प माधव सेवा न्यास के रूप में समाज को समर्पित है| माधव सेवा न्यास की “वसुधैव कुटुम्बकम”“सर्वे भवन्तु सुखिनः” का चिंतन न्यास के मूल उद्देश्यों में स्पष्ट रूपेण प्रतीत होता है | माधव सेवा न्यास की अवधारणा रखने के चिंतन से आज तक के काल में ऐसे कई कार्य किए गए जो की समग्र समाज के कल्याण की भावना को उजागर करते हैं | राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के द्वितीय सरसंघचालक परम पूजनीय माधव सदाशिवराव गोलवलकर के नाम पर इस न्यास को भी नाम दिया गया ” माधव सेवा न्यास’ | .

प्रसिद्ध ज्योतिर्लिग महाकालेश्वर के समीप सभी जाति, पंथ, संप्रदाय, मालवालम्बियो की आस्था का केंद्र है | ऐसे भारत माता का मंदिर भव्य स्वरुप मे निर्माण हो | इस भाव से माधव सेवा न्यास द्वारा भव्य भारत माता मंदिर निर्माण का संकल्प लिया गया | जमीन तल से लगभग १०० फीट की ऊँचाई तक इस मंदिर का निर्माण हो…

भारतीय वैदिक तथा धार्मिक ग्रंथो पत्र-पत्रिकाओ, शोध लेखों व पत्रों का संकलन यहां हो | प्राचीन भारतीय साहित्य विज्ञान एवं अध्यात्म से जुड़ा प्राचीन वाडगमय, संस्कृत एवं राष्ट्रीय साहित्य उसका मुद्रण, प्रकाशन की सुचारू व्यवस्था…

आगंतुक अनुभव